Home Authors Posts by Publishing Bot

Publishing Bot

35 POSTS 0 COMMENTS

अवतार क्या है ?

0
यूँ तो अवतार लेने का कार्य दो तत्व करते हैं। एक भगवान, दूसरे जीव। यहाँ देखना यह है कि भगवान का अवतार स्वयं की...

हिन्दू धर्म में 33 करोड़ देवता हैं या 33 प्रकार के...

0
देवता वास्तव में 33 करोड़ ही हैं, 33 प्रकार के नहीं। आमतौर पर जो लोग यह समझते हैं कि 33 कोटि शब्द में कोटि...

क्या ईश्वर वास्तव में श्रेष्ठ है ?

0
आजकल यह देखने में आ रहा है कि सनातन के रहस्यों को न जानने वाले, अज्ञानियों के द्वारा मनन चिंतन और निदिध्यासन के घोर...

ब्रह्म, माया, संसार एवं जीवात्मा पर दार्शनिक विवेचन

0
💐मारुति💐: :-- एक जिज्ञासा मन में है, ब्रह्म सत्य है और जगत् मिथ्या, इस वाक्य में पूर्ण विश्वास है, और ये ही सत्य है...

हमारे जीवन में संस्कारों का महत्व

0
पौराणिक, वैदिक और शास्त्री एक ही है। इनमें कोई भेद नहीं क्योंकि धर्ममय वृक्ष के वेद मूल हैं, शास्त्र शाखा हैं, पुराण पत्ते हैं,...